Thursday, May 23, 2013


तमाम उम्र साये की तरह कोई भी मेरे साथ न रहा.
किसी से उम्मीद क्या रखूं साया भी मेरे साथ न रहा.

1 comment:

सीमा स्‍मृति said...

सच है फिर भी लगता है कोई साया हो।

Post a Comment